अब नृत्य कलाकारों को तकनीक से भी मिलानी होगी ताल, मंचों के संग-साथ अब ऑनलाइन भी दिखानी होगी प्रतिभा

ब्रज पत्रिका, आगरा। अब तकनीक के साथ भी ताल मिलाएंगे हमारे नृत्य कलाकार। ऑफ लाइन के साथ अब ऑनलाइन भी अपनी मौजूदगी दर्ज कराने का जतन किया जाएगा। कोरोना से बचाव के उपायों को अपनाते हुए सोशल डिस्टेनसिंग का पालन करते हुए अपने शिष्यों को प्रशिक्षित करने का संकल्प लिया सभी नृत्य कलाकारों ने, आरोही इवेंट्स के एक वेबिनार में। बतौर अतिथि वक्ता शामिल दिल्ली में कार्यरत सीनियर कोरियोग्राफर सिल्वेस्टर शर्मा ने भी इसमें कलाकारों से संवाद किया। मुम्बई से कोरियोग्राफर सुमित साहिल और आगरा से बॉलीवुड राइटर व डायरेक्टर सूरज तिवारी ने भी इसमें हिस्सा लिया। वेबिनार में पैनलिस्ट लखनऊ घराने की हर्षिता मिश्रा, आगरा की प्रसिद्ध नृत्यांगना रुचि शर्मा, नृत्य गुरू पुरुषोत्तम मयूरा, जयपुर घराने से रोशनी गिडवाणी, वेस्टर्न डांस कोरियोग्राफर टोनी फास्टर, जयपुर घराने से डॉ. कोनिका शर्मा, रियलिटी शो विनर प्रीति सिंह, स्टोन रॉक डांस कंपनी के प्रत्यूष भदौरिया, सेंसेशनल डांस ग्रुप के अमित कुमार औऱ स्पार्कल्स डांस ग्रुप की नंदिनी शर्मा ने इसमें हिस्सा लिया। सिल्वेस्टर शर्मा ने ही इस सेशन को मॉडरेट भी किया। मुम्बई से सुमित साहिल ने बताया कि यहाँ एसोसिएशन व सीनियर आर्टिस्ट डांसर्स की मदद कर रहे हैं, और जल्द शूटिंग शुरू होने जा रही हैं। राइटर व डायरेक्टर सूरज तिवारी ने कहा कि नृत्य विद्या आदिकाल से चली आ रही है, और ये स्वस्थ रहने के साथ खुशियां देने और रोज़गार प्राप्ति का भी माध्यम है, इससे आगे भी लाभ मिलेगा। लखनऊ घराने की हर्षिता मिश्रा ने कहा कि गुरु का होना बहुत ज़रूरी है, प्रॉपर सीखकर आगे बढ़ें और विद्यार्थी की तरह आगे भी सीखते रहें। वरिष्ठ नृत्यांगना रुचि शर्मा ने बताया हम भी अब टेक्नोलॉजी के साथ आ गए हैं, इसको सीख गए हैं, सबको वक़्त की जरूरत के हिसाब से इससे परिचित होना ही पड़ेगा। नृत्य गुरू पुरुषोत्तम मयूरा ने कहा कि एक दूसरे की मदद को एसोसिएशन बनाकर काम करना होगा, ताकि आने वाले वक्त में एक दूसरे की सही तरीके से मदद हो सके। जयपुर घराने की रोशनी गिडवानी ने बताया एकेडेमिक शिक्षा लेकर जो स्टूडेंट्स इस फील्ड में काम करने आएंगे उनको हमेशा रोज़गार के अवसर मिलेंगें। वेस्टर्न डांस कोरियोग्राफर टोनी फास्टर ने बताया भारत ही एक ऐसा देश है जहाँ लोग एक दूसरे की हेल्प कर रहे हैं औऱ यही भारत की ताक़त भी है, हम कलाकारों को भी उन दूसरे कलाकारों की मदद करनी चाहिए जिनको इसकी ज़रूरत है। जयपुर घराने की डॉ. कोनिका शर्मा ने कहा चाहे कितनी भी विषम परिस्थितियों का सामना हमें करना पड़े लेकिन हमारी गुरू-शिष्य परंपरा नहीं मरेगी। शास्त्रीय नृत्य में भाव, भंगिमाएं आदि को डिजीटल सिखाना थोड़ा नाकाफ़ी सा लगता है, बाकी संवादों के माध्यम से डिजिटली कुछ हद तक सिखा सकते हैं। रियलिटी शो विनर प्रीति सिंह ने बताया लर्निंग और अर्निंग दोनों पर हमें अब ध्यान देना होगा, सच मायने में अब गोल्डन टाइम आने वाला है। स्टोन रॉक डांस कंपनी के प्रत्यूष भदौरिया ने कहा कि एक सोनू सूद हर शहर में होना चाहिए।
सेंसेशनल डांस ग्रुप के अमित कुमार ने कहा मैंअपने ग्रुप के सभी मेंबर्स का ध्यान रख रहा हूं, और ये मदद करता रहूंगा। स्पार्कल्स डांस ग्रुप की नंदिनी शर्मा ने कहा कि अब हम सभी को ऑनलाइन भी अपने आप को प्रमोट करने की जरूरत है, ताकि अब हम ज्यादा से ज्यादा लोगों की नज़रों में आ सकें। अपने वजूद को बनाये रखने के लिए ये जरूरी भी हो गया है। अमित तिवारी ने सभी का आभार व्यक्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!