UA-204538979-1

नहीं रहे ब्रज रत्न प्रो.अश्विनी शर्मा, आगरा का परचम कला जगत में फहराते रहे रंगकर्मी और चित्रकार प्रो.अश्वनी शर्मा

ब्रज पत्रिका, आगरा। ब्रज क्षेत्र के कला की दुनिया के गौरव प्रोफेसर अश्वनी शर्मा उर्फ ‘चचे’ का बुधवार को निधन हो गया। वे देश के मशहूर चित्रकारों में से एक और आगरा के प्रमुख आयोजन जनकपुरी के जनकमंच के मशहूर डिजाइनर थे। इप्टा और हम ललित कला मंच के नाटकों की वह जान हुआ करते थे, रूप सज्जा और मंच सज्जा से लेकर अभिनय तक हर विधा पर उनकी गहरी पकड़ बनी रही। आगरा कालेज में चित्रकला विभागाध्यक्ष भी रहे। अश्विनी शर्मा को इन्क्रेडिबिल इंडिया फाउंडेशन द्वारा ‘ब्रज रत्न अवार्ड’ से अलंकृत किया गया था। आगरा महोत्सव में रावी इवेंट द्वारा उन्हें ‘ब्रज भूषण सम्मान’ भी दिया दिया गया था। प्रो.अश्विनी शर्मा अपनी चित्रकारी के लिए राष्ट्रपति द्वारा भी सम्मानित किए जा चुके थे।

1989 में भारत के राष्ट्रपति द्वारा हुए सम्मानित

अश्वनी शर्मा उर्फ ‘चचे’ की पेंटिंग देश- विदेश में प्रदर्शित हुईं। ललित कला के क्षेत्र में ललित कला अकादमी जैसे तमाम सम्मान उन्हें मिले। सन 1989 में उनको भारत के राष्ट्रपति द्वारा भी सम्मानित किया गया। आगरा महोत्सव में उनको केद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने ‘ब्रज भूषण सम्मान’ से अलंकृत किया। उनके निधन से संस्कृति के क्षेत्र के लोगों को गहरा आघात लगा है, जिसे सहन करना आसान नहीं है। उनकी कमी हमेशा खलती रहेगी।

कला के बलबूते पर हर किसी के दिल में बनाई जगह

निर्भयता के साथ अपनी कला और सहज स्वभाव के बलबूते पर हर किसी के दिल में जगह और सम्मान प्राप्त किया। वे ऐसे अनुपम व्यक्तित्व के धनी थे कि कोई भी व्यक्ति उनके व्यक्तित्व से प्रभावित हुए बिना नहीं रहता था। प्रसिद्ध चित्रकार के साथ-साथ वे लेखक और वरिष्ठ रंगकर्मी भी थे। कभी तूलिका के माध्यम से अपनी भावनाओं को कैनवास पर उकेरते रहे तो कभी उत्तर भारत की प्रमुख रामलीला के लिए विशाल जनक मंच का अपने निर्देशन में निर्माण कराते रहे। समय-समय पर उनके द्वारा रंगमंच को बढ़ावा देने के लिए कठिन कार्य किए गए। रंगमंच के क्षेत्र में अभिनय हो, मेकअप हो, या फिर हो सेट डिजाइनिंग, किसी भी क्षेत्र में उनका मुकाबला नहीं था। चित्रकला का शौक उनको इंटरमीडिएट से ही था। आगरा कॉलेज के ललित कला विभाग में सन 1965 से उनको सेवा करने का अवसर मिला। सेवानिवृत्ति के बाद भी वह कला और संस्क़ति को बढ़ावा देने के लिए सतत सक्रिय रहे।

इनक्रेडिबल इंडिया फाउंडेशन के चैयरमैन पूरन डाबर, सचिव अजय शर्मा सहित बृजेश शर्मा, डॉ. राम नरेश शर्मा आदि ने उनके निधन को अपूर्णीय क्षति करार दिया है।

वरिष्ठ फ़ोटो जर्नलिस्ट असलम चचे ने उनको श्रद्धांजलि देते हुए कहा है-

आगरा शहर की एक जानी-मानी हस्ती चित्रकार व रंगकर्मी श्री अश्वनी शर्मा ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया।

रुखसत हुआ तो आंख मिलाकर नहीं गया।
वो क्यूं गया है ये बता कर नहीं गया॥
यूँ लग रहा है जैसे अभी लौट आएगा।
जाते हुए चराग बुझा कर नहीं गया॥

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!