खेतों में फूलों की मानिंद खिलखिलाते हुए नज़र आये बेबी शो में नन्ने-मुन्ने बच्चे!

समय की आवश्यकता के अनुरूप पेन्डेमिक को ध्यान में रखते हुए कोविड-19 प्रोटोकॉल का पूरी तरह से पालन किया गया।

सभी बच्चों ने दो गज की दूरी के साथ हेलमेट तथा मास्क पहनकर ही प्रतियोगिता में भाग लिया।

ब्रज पत्रिका, आगरा। दयालबाग में पिछले वर्षों की तरह इस वर्ष भी बसंत उत्सव में ‘बेबी शो’ का आयोजन दो भागों में सम्पन्न हुआ। पहले भाग में सौन्दर्य, बुद्धि तथा स्वास्थ्य परिक्षण की प्रतियोगिताएं 10 तथा 17 जनवरी को आयोजित की गईं थीं, जिनमें कि 3 सप्ताह से लेकर 8 वर्ष तक के बच्चों ने उत्साहपूर्वक भाग लिया।

दूसरे भाग में फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता 20 जनवरी को सम्पन्न हुई। समय की आवश्यकता के अनुरूप इस समय पेन्डेमिक को ध्यान में रखते हुए कोविड-19 प्रोटोकॉल का पूरी तरह से पालन किया गया। सभी बच्चों ने दो गज की दूरी के साथ हेलमेट तथा मास्क पहनकर ही प्रतियोगिता में भाग लिया। कॉन्टैक्टलेस बेबी शो आयोजित करने के लिए पेपरलेस जजमेंट ऑनलाइन गूगल फ्रॉम से किया गया।

इस वर्ष 62 (बासठ) लड़कियों तथा 66 (छियासठ) लड़कों, कुल 128 बच्चों ने भाग लिया। फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता में 29 (उनतीस) बच्चों ने भाग लिया। खेतों में आयोजित कार्यक्रम में उपस्थित भाई-बहनों ने खेतों में सेवा कार्य करते हुए प्रतियोगिता का आनन्द लिया। सुबह ठन्ड व कोहरे को मात देते हुए लगभग 200 सुपरमैन (3 सप्ताह से 5 वर्ष तक के बच्चे) भी कार्यक्रम के दौरान उपस्थित रहे।

सभी प्रतिभागियों, व्यवस्थापकों एवं निर्णायकों को परम पूज्य हुज़ूर की उपस्थिति में प्रसाद वितरित किया गया। समस्त कार्यक्रम परम पूज्य हुज़ूर प्रेम सरन सतसंगी साहब के सम्मुख प्रस्तुत किये गये। आदरणीय रानी साहिबा एवं राधास्वामी सतसंग सभा के अन्य गणमान्य पदाधिकारी भी उपस्थित थे।

प्रतियोगिताओं के परिणामः

1 वर्ष से 2 वर्ष के बच्चों के ग्रुप में सहज शर्मा प्रथम और प्रेमी धुन अमोली द्वितीय रहे।

2 वर्ष से 4 वर्ष के बच्चों के ग्रुप में आरत सतसंगी प्रथम,
कु. बी. आरती द्वितीय और कु. नरगिस तृतीय स्थान पर रहीं।

4 वर्ष से 6 वर्ष के बच्चों के ग्रुप में परम स्वरूप सिन्हा प्रथम, कु. तीरथ बानी द्वितीय, बी. शब्द सत्संगी तृतीय रहे।

6 वर्ष से 8 वर्ष के बच्चों के ग्रुप में समृद्ध सागर प्रथम,
अमृत सतसंगी द्वितीय, अचरज तृतीय रहे।

चैम्पियन्सः
3 सप्ताह – 1 वर्ष में सोहंग
1 वर्ष – 2 वर्ष में दयाल अनुपमा न्यारी
2 वर्ष – 4 वर्ष में निज न्यारा
4 वर्ष – 6 वर्ष में संत सुधीर
6 वर्ष – 8 वर्ष में शब्द स्वरूप सतसंगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!