महिलाओं की रोल मॉडल विषयक सार्थक और आकर्षक ‘कोहिनूर-ए-ताज-2021’ कैलेंडर हुआ लॉन्च!

ब्लास्टर ग्रुप और मन की उड़ान संस्था के बैनर तले महिला सशक्तिकरण पर कलेण्डर का विमोचन।

ब्रज पत्रिका, आगरा। ‘मन की उड़ान’ संस्था और ब्लास्टर ग्रुप द्वारा महिलाओं की रोल मॉडल विषयक एक सार्थक और आकर्षक ‘कोहिनूर-ए-ताज-2021’ कैलेंडर कैलाशपुरी स्थित होटल भावना क्लार्क्स इन में लॉन्च किया गया। कैलेंडर के प्रत्येक पृष्ठ पर अलग-अलग क्षेत्र की अज़ीम महिला शख्सियत को प्रेरणास्रोत के रूप में लिया है। कैलेंडर को फोटोग्राफर गौरव धवन ने शूट किया है। महिला शख्सियतों का मेकअप ग्लैम ब्यूटी एंड फैशन इंस्टीट्यूट की डायरेक्टर और सीनियर मेकअप आर्टिस्ट शिवानी मिश्रा ने किया है।

महिला सशक्तिकरण विषय पर कोहिनूर-ए-ताज के नववर्ष 2021 कैलेंडर का विमोचन सांसद एसपी सिंह बघेल, समाजसेवी बबिता चौहान एवं ब्लास्टर ग्रुप की निर्देशिका एडवोकेट चंचल गुप्ता ने किया। इससे पूर्व उन्होंने दीप प्रवज्जलित कर इस कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इसके बाद कैलेंडर के प्रथम पृष्ठ की प्रतिकृति जो कि लाल वेलवेट कपड़े से ढंक कर रखी हुई थी, उसका अनावरण भी अतिथियों ने किया। सांसद एसपी सिंह बघेल का स्वागत अध्यक्ष एडवोकेट चंचल गुप्ता ने किया। जुगल श्रोतिया ने स्मृति चिन्ह दिया।

कैलेंडर में प्राचीन से आधुनिक सदी की महिलाओं की रोल मॉडल्स को हर माह के पृष्ठों पर दर्शाया गया है। इसको दर्शाने के लिए चिकित्सक, शिक्षिका, महिला उद्यमी आदि का फोटो शूट अलग-अलग भेषभूषा में कराया गया था। इनमें आगरा की विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य करने वाली प्रेरणादायक महिलाओं को रोल मॉडल के साथ उनके ही स्वरूप को प्रतिबिंबित करते हुए दर्शाया गया है।

सांसद एसपी सिंह बघेल ने कहा कि,

“समाज में बहुत तेजी से परिवर्तन आ रहा है। महिला सशक्तिकरण भी बहुत हुआ है देश में वरना एक दौर था कि फिल्मों में महिला पात्रों को भी पुरुष कलाकारों को ही अभिनीत करना पड़ता था। समाज में जागरूकता भी आ रही है, सोच में परिवर्तन भी आ गया है। मगर कहीं न कहीं हमारे गाँव आज भी पिछड़े हुए हैं। वहाँ आज भी काम करने की जरूरत है। समाजसेवा का एक बहुत बड़ा क्षेत्र आपका गाँव-देहात के रूप में आपका इंतज़ार कर रहा है।”

समाजसेवी बबीता चौहान ने कहा,

“महिलाओं में ये ताकत है कि वो समाज और देश में बहुत कुछ बदल सकती है। यहाँ कैलेंडर के प्रत्येक पृष्ठ पर देश की वीर नारियों की गाथा व योगदान साफ झलक रहा है।”

अध्यक्ष एडवोकेट चंचल गुप्ता ने बताया कि,

“कोहिनूर-ए-ताज कांटेस्ट द्वारा चयनित महिलाएं कैलेंडर में प्राचीन काल से आधुनिक काल तक के महिलाओं के योगदान को प्रदर्शित कर रहा है।”

अतिथियों ने सभी सहयोगियों को भी स्मृति चिन्ह दिया।


मंच संचालन अमित सूरी ने किया।

इस अवसर पर प्रमुख रूप से सुनीता सिंह, शिवानी मिश्रा, वंदना पतौलिया, पारुल सिंह, अमृता दौनेरिया, सोनाली खंडेलवाल, किरण चौधरी, नीरा कालरा, चारु शर्मा, नवीन गौतम, गौरव शर्मा, विनीत बाबानिया, डॉ. महेश धाकड़, जुगल श्रोतिया, अभिनव श्रोत्रिय आदि मौजूद रहे। कार्यक्रम के अंत में सेल्फ़ी सेशन भी खूब चला।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!