आईएफएफआई 51 ने ‘द फॉरगौटन हीरो’ की विशेष स्क्रीनिंग के साथ नेताजी की 125 वीं जयंती के वर्ष का जश्न शुरू किया!

निर्देशक श्याम बेनेगल की 220 मिनट की ‘द फॉरगॉटन हीरो’ नेताजी सुभाष चंद्र बोस के जीवन पर आधारित एक ऐतिहासिक युद्ध फिल्म है।

फ़िल्म में 1941-1943 के नाजी जर्मनी, 1943-1945 के दौरान जापान के कब्जे वाले एशिया में नेताजी का जीवन, और आज़ाद हिंद फौज के गठन के लिए हुई घटनाओं को दर्शाया गया है।

इस फ़िल्म में फ्लैशबैक अनुक्रम में उनके जीवन की कहानी भी शामिल है।

ब्रज पत्रिका। नेताजी सुभाष चंद्र बोस: कुशल निर्देशक श्याम बेनेगल की द फॉरगॉटन हीरो। भारत का 51 वाँ अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव नेताजी सुभाष चंद्र बोस की राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्‍तर पर मनाई जा रही 125 वीं जयंती वर्ष के समारोहों में विशिष्‍ट तरीके से शामिल हो रहा है। गोवा में पणजी में फिल्‍म समारोह स्‍थल पर 23 जनवरी, 2021 को, 2005 की इस फिल्म को विशेष रूप से दिखाया गया।

राष्ट्रीय स्वतंत्रता संग्राम में नेताजी द्वारा दिखाई गई वीरता और दृढ़ता का बेनेगल ने जो दिलचस्‍प वर्णन किया है उसे देखकर महोत्‍सव में शामिल प्रतिनिधियों को राहत और प्रेरणा मिली। भारत के दहला देने वाले स्वतंत्रता सेनानी, जिन्होंने कहा था “तुम मुझे खून दो, मैं तुम्‍हें आजादी दूंगा”, काम को अंजाम देने वाले शख्‍स थे। ब्रिटिश शासन के खिलाफ लड़ाई में, उन्होंने देश के युवाओं को एकजुट होने और स्वतंत्रता के लिए लड़ने का आह्वान किया।

220 मिनट की उनके जीवन पर आधारित इस ऐतिहासिक युद्ध फिल्म में 1941-1943 के नाजी जर्मनी, 1943-1945 के दौरान जापान के कब्जे वाले एशिया में नेताजी का जीवन, और आज़ाद हिंद फौज के गठन के लिए हुई घटनाओं को दर्शाया गया है। इसमें फ्लैशबैक अनुक्रम में उनके जीवन की कहानी भी शामिल है।

आईएफएफआई में ‘द फॉरगॉटन हीरो’ का प्रदर्शन की स्क्रीनिंग एक बेहद उचित क्षण में हुआ, जिस दिन भारत सरकार ने नेताजी की 125 वीं जयंती वर्ष के समारोहों का जश्न शुरू किया। नेताजी की अदम्य भावना और राष्ट्र के प्रति निस्वार्थ सेवा को सम्मानित करने और उन्हें याद करने के लिए, सरकार ने हर साल 23 जनवरी को नेताजी का जन्मदिन “पराक्रम दिवस” के रूप में मनाने का निर्णय लिया। 

पराक्रम दिवस का उत्सव हमारे नागरिकों, विशेष रूप से युवाओं को प्रतिकूल परिस्‍थति में दृढ़ता के साथ, और उनमें देशभक्ति के उत्‍साह की भावना का संचार कर, उसी तरह कार्य करने के लिए प्रेरित करेगा, जैसा कि नेताजी ने किया था।

फ़िल्म की विशेष स्क्रीनिंग के बारे में, महोत्‍सव के निर्देशक चैतन्य प्रसाद ने कहा,

“नेताजी सबसे प्रिय राष्ट्रीय नायकों में से एक हैं और भारत के स्वतंत्रता संग्राम के अत्‍यन्‍त उत्‍कृष्‍ट प्रतिरूप हैं। ‘द फॉरगॉटन हीरो’ का प्रदर्शन नेताजी सुभाष चंद्र बोस के अदम्य व्यक्तित्व को सम्मान देने और देश के लिए उनकी निस्वार्थ सेवा को याद करने के लिए किया गया। महान स्वतंत्रता सेनानी की 125 वीं जयंती पर, हम नेताजी के देश के लिए अद्वितीय योगदान को याद कर रहे हैं।”

नेताजी सुभाष चंद्र बोस: नेताजी का किरदार निभाने वाले अभिनेता और निर्देशक सचिन खेडेकर इस फ़िल्म में मुख्य भूमिका में हैं। फिल्म को वर्ष 2005 के लिए राष्ट्रीय एकता पर सर्वश्रेष्ठ फीचर फिल्म के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार मिल चुका है।

नेताजी की विरासत अमर है और आज भी लाखों लोगों को प्रेरित करती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!