जम्मू स्थित 690 मेगावाट क्षमता वाले सलाल पावर स्टेशन की नवीनतम इकाइयों का उद्घाटन

-विद्युत सचिव और एनएचपीसी के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक ने सलाल पावर स्टेशन का दौरा किया।

ब्रज पत्रिका। विद्युत सचिव संजीव नंदन सहाय ने 28 अक्टूबर को एनएचपीसी के जम्मू स्थित 690 मेगावाट क्षमता वाले सलाल पावर स्टेशन का दौरा किया। इस अवसर पर एनएचपीसी के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक ए.के. सिंह, विद्युत मंत्रालय में संयुक्त स​चिव (हाइड्रो) तन्मय कुमार, केन्द्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के बिजली वितरण विभाग के प्रमुख सचिव रोहित कंसल और एनएचपीसी के जम्मू क्षेत्रीय कार्यालय के मुख्य महाप्रबंधक राजन कुमार उनके साथ थे।

विद्युत सचिव संजीव नंदन सहाय, एनएचपीसी के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक ए.के. सिंह, विद्युत मंत्रालय में संयुक्त सचिव (हाइड्रो) तन्मय कुमार, एनएचपीसी के जम्मू क्षेत्रीय कार्यालय के मुख्य महाप्रबंधक राजन कुमार और सलाल पावर स्टेशन के महाप्रबंधक नन्हे राम (प्रभारी) 28 अक्टूबर को एनएचपीसी के जम्मू स्थित 690 मेगावाट क्षमता वाले सलाल पावर स्टेशन की नवीनतम इकाइयों का उद्घाटन करने के अवसर पर उपस्थित।

इन सभी गणमान्य व्यक्तियों का ज्योतिपुरम में सलाल पावर स्टेशन के महाप्रबंधक नन्हे राम और एनएचपीसी के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों समेत सीआईएसएफ और नागरिक प्रशासन के अधिकारियों ने स्वागत किया। इसके बाद सीआईएसफ की ओर से इन सभी को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।

विद्युत सचिव और एनएचपीसी के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक ने अन्य अधिकारियों के साथ सलाल पावर स्टेशन के विभिन्न हिस्सों का दौरा किया। इस मौके पर श्री सहाय ने सलाल पावर स्टेशन की नवीनतम इकाइयों का उद्घाटन किया। सलाल पावर स्टेशन के महाप्रबंधक (प्रभारी) नन्हे राम ने पावर स्टेशन के संचालन और रख-रखाव की गतिविधियों के बारे में अधिकारियों को जानकारी दी।

इस अवसर पर विद्युत सचिव ने पावर स्टेशन के काम-काज में सुधार के लिए ए.के. सिंह के नेतृत्व में की गई पहलों की सराहना की और एनएचपीसी के प्रतिष्ठित पावर स्टेशनों में से एक को देखने का अवसर मिलने पर खुशी व्यक्त की। उन्होंने पनबिजली परियोजनाओं को समय पर पूरा करने पर जोर दिया और कहा कि भारत सरकार ने मार्च 2019 में लाई गई नई पन बिजली नीति के माध्यम से जलविद्युत परियोजनाओं को बढ़ावा देने की पहले ही शुरुआत कर चुकी है। उन्होंने भारतीय ग्रिड में अक्षय ऊर्जा की उच्च पैठ को ध्यान मे रखते हुए ग्रिड स्थिरता को सुनिश्चित करने के लिए पंप भंडारण योजनाओं के विकास के काम पर ध्यान देने का आग्रह किया।

ए.के. सिंह ने अपने व्यस्त कार्यक्रम से समय निकाल कर पावर स्टेशन का दौरा करने के लिए श्री सहाय का आभार व्यक्त किया और कहा कि यह भारत सरकार द्वारा जल विद्युत परियोजनाओं को दिए जाने वाले महत्व को दर्शाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!