जनता की सेवा करना ही तो काम है सर्वोत्तम!

लोकप्रिय विधायक पुरुषोत्तम खंडेलवाल के जीवन और जन सेवाओं पर डॉक्यूमेंट्री फिल्म बना रही है आरए मूवीज़।

श्रद्धेय राजकुमार सामा विचार मंच ने विधायक पुरुषोत्तम खंडेलवाल पर निर्माणाधीन फिल्म के दो गीतों का ऑडियो और पोस्टर किया जारी।

अंतिम सांस तक करता रहूंगा जी-जान से जनता की सेवा: विधायक पुरुषोत्तम खंडेलवाल।

विधायक पुरुषोत्तम खंडेलवाल जैसे जन सेवकों के रूप में हमेशा ज़िंदा रहेगा श्रद्धेय राजकुमार सामा जी का किरदार, विचार और संस्कार: रंजीत सामा

ब्रज पत्रिका, आगरा। लोकप्रिय विधायक पुरुषोत्तम खंडेलवाल जैसे जनसेवकों के रूप में आज भी बाबूजी श्रद्धेय राजकुमार सामा जी का किरदार, विचार और संस्कार जिंदा है। आज की पीढ़ी को जन सेवा की इस विचारधारा से परिचित और प्रेरित करने के उद्देश्य से आरए मूवीज द्वारा विधायक पुरुषोत्तम खंडेलवाल के जीवन पर एक डॉक्यूमेंट्री फिल्म का निर्माण किया जा रहा है। यह उद्गार आगरा के फिल्मकार रंजीत सामा ने शुक्रवार शाम संजय प्लेस स्थित होटल मेट्रो में व्यक्त किए।

निर्माता रंजीत सामा ने कहा,

“फ़िल्म में पुरुषोत्तम खंडेलवाल जी के जीवन के हर पहलू को समाहित किया जायेगा। इसमें उनके राजनीतिक और सामाजिक जीवन की विविध उपलब्धियों को मुखर करने की कोशिश होगी।”

इससे पूर्व, श्रद्धेय राजकुमार सामा विचार मंच के तत्वावधान में विधायक पुरुषोत्तम खंडेलवाल के जीवन और जन सेवा पर आधारित निर्माणाधीन डॉक्यूमेंट्री फिल्म ‘पुरुषोत्तम सर्वोत्तम’ के दो गीतों का ऑडियो और फिल्म का पोस्टर शहर के गणमान्य समाजसेवियों द्वारा जारी किया गया।

इस अवसर पर विधायक पुरुषोत्तम खंडेलवाल ने कहा कि,

“बाबूजी राजकुमार सामा जी मेरे प्रेरणा स्रोत रहे हैं। उनकी प्रेरणा से मैं अंतिम सांस तक जी-जान से जनसेवा करता रहूंगा।”

अगस्त में आएगी फिल्म

डॉक्यूमेंट्री फिल्म के लेखक और निर्देशक सूरज तिवारी ने बताया कि,

“45 मिनट की यह बायोग्राफीकल फिल्म अगस्त माह में रिलीज होगी।”

गीतों ने छू लिया दिल

समारोह में सूरज तिवारी द्वारा लिखे और बॉलीवुड सिंगर चंचल उपाध्याय द्वारा गाए गए शीर्षक गीत ने सबका दिल छू लिया। बोल थे- “है जब तक ब्रज में पुरुषोत्तम, नहीं कोई अकेला है। जनता की सेवा करना ही तो काम है सर्वोत्तम…।”

शीर्षक गीत पर रंगकर्मी उमाशंकर मिश्र के एकल अभिनय ने जनसेवक के किरदार को जीवंत कर दिया। चंचल उपाध्याय की कलम और गले से निकले दूसरे गीत “खाटू श्याम तुमको प्रणाम…।” ने भी सबको भावविभोर कर दिया। उल्लेखनीय है कि इन गीतों का संगीत पं. दिलीप ताहिर ने दिया है।

यह रहे प्रमुख रूप से शामिल

समारोह में श्रद्धेय राजकुमार सामा विचार मंच के उपाध्यक्ष प्रमोद वर्मा (गुड्डू भाई), महासचिव मुकेश नेचुरल, प्रमुख समाजसेवी पूरन डाबर, नागेंद्र प्रसाद दुबे ‘गामा’, शिव शंकर शर्मा, टीएन अग्रवाल, डॉक्टर पार्थसारथी शर्मा, वरिष्ठ पत्रकार आदर्श नंदन गुप्त, डॉ. महेश धाकड़, प्रतिभा जिंदल, संजय दुबे, संजय गोयल, राजेंद्र चौधरी, नीरज तिवारी, अनिल जैन, संजय दीक्षित और नवल किशोर अग्रवाल प्रमुख रूप से मौजूद रहे। कोषाध्यक्ष विजय सामा ने आभार व्यक्त किया। संचालन राहुल उपाध्याय ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!