प्रगति के पथ पर दौड़ेगा अपना भारत, सरकार और औद्योगिक संगठन मिलकर लिखेंगे इसकी विकास गाथा!

होटल जेपी में आयोजित प्रोग्रेसिव इंडिया कॉन्क्लेव 2020 के आयोजन में उन्ननतशील भारत विषय पर हुई चर्चा।

शिक्षा, स्वास्थ्य व उद्योग के विकास व नई दिशा पर हुआ मंथन, एक दर्जन से अधिक औद्योगिक संगठनों की रही भागीदारी।

कॉन्क्लेव में दिखा विकसित भारत के औद्योगिक विकास का मॉडल, उद्यमियों ने किया मंथन।

गांव, खेत और गलियों में सहयोग को आगे आएं उद्योगपति- चौधरी उदयभान सिंह

ब्रज पत्रिका, आगरा। कभी विश्वगुरु रहे भारत से अब दस्तकारी और हुनर खत्म हो रहा है। लुहार, सुनार, शिल्पकार जैसे पीढ़ी-दर-पीढ़ी बढ़ने वाले हुनर की कड़ी टूट रही है। भारत को फिर से विश्व का सिरमौर लघु और कुटीर उद्योगों के बिना बनाने की कल्पना नहीं की जा सकती। यूपी सरकार के राज्यमंत्री चौधरी उदयभान सिंह ने फतेहाबाद रोड स्थित होटल जेपी पैलेस में आयोजित प्रोग्रेसिव इंडिया कॉन्क्लेव 2020 में बतौर मुख्य अतिथि के रूप में बोलते हुए यह बात कही।

कार्पोरेट काउंसिल फॉर लीडरशिप एंड अवेयरनेस (सीसीएलए) एवं रावी इवेंट्स द्वारा भारत सरकार के एमएसएमई मंत्रालय के सहयोग से आयोजित कॉन्क्लेव में चौ. उदयभान सिंह ने कहा कि,

“देश और शहर के उद्योगपतियों को मिलने वाले सम्मान तभी सार्थक होंगे जब वह गांव, खेत और गलियों में अपना सहयोग देंगे।”

एमएसएमई के निदेशक टीआर शर्मा ने लघु व कुटीर उद्योगों में नई योजनाओं की जानकारी दी। लघु उद्योग भारती के प्रदेश महासचिव दीपक अग्रवाल ने परम्परागत उद्योगों को बढ़ावा देने पर जोर दिया। कार्यक्रम का शुभारम्भ राज्यमंत्री चौ. उदयभान सिंह, एफमेक के अध्यक्ष पूरन डावर, बैनारा उद्योग लि. के निदेशक संजीव बैनारा ने दीप प्रज्ज्वलित करके किया।

इस मौके पर मुख्य अतिथि महापौर नवीन जैन ने अपने सम्बोधन में देश की जीडीपी में उद्योग जगत की भूमिका पर अपनी बात रखी।

नवीन जैन, अध्यक्ष, अखिल भारतीय महापौर परिषद महापौर ने कहा,

“कोरोना संक्रमण का खतरा अभी टला नहीं है। आज जरूरत इस बात की है कि हम कोरोना से डरें नहीं, बल्कि सावधानी के साथ उसका सामना करें। क्योंकि डरकर घर बैठने से जीवन नहीं चल सकता, किसी भी कारोबार से प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से जुड़ा हर आम और ख़ास व्यक्ति देश की अर्थव्यवस्था की अहम कड़ी हैं उसे हमें किसी भी हाल में गिरने नहीं देना है।”

टीआर शर्मा, डायरेक्टर, एमएसएमई, डीआई आगरा ने कहा,

“सूक्ष्म एवं लघु उद्योग निश्चित रूप से देश की जीडीपी में अहम भूमिका निभाते हैं, मंत्रालय की नीतियां इन उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए बेहद कारगर तरीके से कार्य कर रहीं हैं। वर्तमान परिस्थितियों के बीच उद्योगों को किस तरह गति दी जाए, इस दिशा में विभाग लगातार कार्य कर रहा है।”

पूरन डावर, अध्यक्ष एफमेक ने कहा,

“काम को छोटा-बड़ा समझने की मानसिकता के कारण ही बेरोजगारी है, यदि आज जूते के काम में पढ़े-लिखे लोग न आए होते, तो यह उद्योग की श्रेणी में शामिल नहीं हो पाता। आज जूता उद्योग 60 लाख लोगों को रोजगार और 6 बिलियन का निर्यात करने वाला उद्योग है।”

देवाशीष मित्रा, उपमहाप्रबंधक, एसबीआई ने कहा,

“अब बैंक सरलीकरण की ओर बढ़ रही हैं। डिजिटल हो रही बैंकों में प्रयास किए जा रहे हैं कि पेपरलेस काम हो। जिससे समय व धन दोनों की बचत हो। इस दिशा में बैंक निरंतर कार्य कर रहे हैं, लगातार सरलीकरण भी हो रहा है, जो आज की जरुरत है।”

गुरु स्वरुप श्रीवास्तव, फिल्म निर्माता एवं उद्यमी ने कहा,

“ताजनगरी में फिल्म उद्योग की अपार संभावनाएं हैं, जरूरत है इस दिशा में सरकार को पहल करने की। वॉलीबुड ही नहीं हॉलीवुड भी आगरा में शूटिंग करने को बेताब रहता है, आगरा में यदि फिल्म उद्योग को गति दी जाए, तो शहर की दशा और दिशा बदल सकती है। मेरी आने वाली हॉलीवुड फिल्म ‘रामायण’ का आगरा में काफी हिस्सा शूट होगा।”

योगेश जिंदल, उपाध्यक्ष, नेशनल चैम्बर ऑफ कॉमर्स, आगरा ने कहा,

“नया उद्योग शुरू करने के लिए 18 विभागों से गुजरना पड़ता है। यह काम सिंगल विन्डो होना चाहिए। साथ ही अन्य प्रांतों की तरह उ.प्र. में भी नए उद्योंगो को सरकार की तरफ से आर्थिक रियायतें मिलनी चाहिए। जिससे उन्हें बढ़ावा मिले।”

सीए शरद पालीवाल, चेयरमैन, सीए एसोशिएशन ने कहा,

“ग्राम उत्थान की परिकल्पना को साकार करने के लिए मेरा मानना है कि आयकर की धारा 80 JJAA सरलीकरण होना चाहिए। कामगार रखने पर आयकर में छूट मिलती है, जिसकी जानकारी लोगों को नहीं है।”

डॉ. पवन गुप्ता, नेशनल मेडिको आर्गनाइजेशन ने कहा,

“लोग कोरोना की समस्या खत्म होने का भ्रम न पाले। सर्दी बढ़ने के साथ यह समस्या बढ़ने वाली है। चिन्ता का विषय यह है कि चिकित्सा क्षेत्र से जुड़े लोग भी इसका शिकार हो रहे हैं। आने वाले समय में सम्भव है कोरोना के कारण चिकित्सा क्षेत्र में लोग आना कम हो जायें।”

पुष्पेन्द्र सूर्यवंशी, शाखा प्रबन्धक, एनएसआईसी ने कहा,

“नए उद्यमियों को ट्रेनिंग व प्रशिक्षण देने के साथ भारतीय खरीद नीति में सूक्ष्म व लघु उद्यमियों द्वारा सरकारी टेंडरों में अधिक से अधिक भागीदारी हो, इसके लिए सरकार के निरंतर प्रयास जारी हैं।”

अतिथियों का स्वागत रावी इवेन्टस के निदेशक मनीष अग्रवाल, आयोजन सचिव अजय शर्मा और समन्वयक ब्रजेश शर्मा ने किया। एंकरिंग श्रुति कुलश्रेष्ठ ने की।

इस अवसर पर मुख्य रूप से एमएसएमई आगरा के सहायक निदेशक ब्रजेश यादव, एमएसएमई सीडीओ सुशील यादव, आगरा गारमेन्टस एसोशिएशन के अध्यक्ष संजीव अग्रवाल, अशोक माहेश्वरी, राजीव बंसल, एडवोकेट अशोक चौबे, ब्रज पत्रिका के संपादक डॉ. महेश चंद्र धाकड़, आदर्श नंदन गुप्त, जी. न्यूज़ डॉटकॉम के सम्पादक अभिषेक मेहरोत्रा, पूर्व बैंक अधिकारी एसएस गुप्ता, सीए सुदीप जैन, सौरभ नारायण सक्सेना, विनय शर्मा, डॉ. आरएन शर्मा, निशांत शर्मा, आइफा के निदेशक सचिन सारस्वत आदि मौजूद रहे।

इनको मिला जेम्स ऑफ़ 2020 हिस्ट्री मेकर्स अवार्ड

गुरु स्वरुप श्रीवास्तव, फिल्म निर्माता
पीके अरोड़ा, ताज ट्रेड मार्क एजेंसी
कुलबीर सिंह, रोजर ग्रुप
ईशान सचदेवा, अल्बर्टो टोरेसी
जितेन्द्र त्रिलोकानी, डर्बी शूज
गगन छाबड़ा, कांसेप्ट कंसीवर्स एन्ड एक्जिक्यूटर्स 
डॉ. सुशील गुप्ता, प्रिल्यूड पब्लिक स्कूल
डॉ. अजय बुलगान, एक्सिस इमेजिंग सेंटर
रोहित जैन, अहिंसा ग्रुप ऑफ कंपनीज
मुरारी प्रसाद अग्रवाल, एकता बिल्डर्स
किशोर खन्ना, रोमसंस ग्रुप
संजीव बैनारा, बैनारा उद्योग लि.
मंगल सिंह धाकड़, मार्क ज्वेल्स
अशोक मंगवानी, आरबी हसमत राय एन्ड कम्पनी 
मुकुल जैन, फ्रेंड अर्थ मूवर्स
सिद्धार्थ कटारिया, कटारिया क्रिएशन्स
सुभाष चंद्र गोयल, पंछी पेठा
विष्णु कुमार गोयल, मुंशी पन्ना
डॉ. शिवानी-आशीष मिश्रा, ग्लैम फॅमिली लाउन्ज
निशांत जैन, इम्पैक्ट वेडिंग एग्जिविशन
अनुभव अग्रवाल, बीएनआर ग्रुप
राजेन्द्र सचदेवा, सचदेवा मिलेनियम स्कूल
राजीव कुमार अग्रवाल, पूजा डिटर्जेंट
देवीचरण अग्रवाल, ग्रुप ऑफ ग्लास, फ़िरोज़ाबाद
अभिषेक अग्रवाल, फार्म क्रीम
नवनीत बंसल, प्रकाश मोटर्स
मनोज जादौन, बुलेट अड्डा
आशीष बंसल, श्रीपतिराम कालीचरण हलवाई

इनको दिया गया मेमोरियल अवार्ड

स्व. अशोक कुमार जैन मेमोरियल अवार्ड लोकहितम ब्लड बैंक को दिया गया, जिसे अखिलेश अग्रवाल ने प्राप्त किया। वहीं सत्यमेव जयते ट्रस्ट को स्व. अनिल दुदवेवाला मेमोरियल अवार्ड प्रदान किया गया, जिसे ट्रस्ट के अध्यक्ष मुकेश जैन के प्रतिनिधि के रूप में अन्य पदाधिकारियों ने प्राप्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!