कौन है एण्ड टीवी के हप्पू सिंह का सबसे बड़ा फैन?

ब्रज पत्रिका। किसी भी कलाकार के लिये उसकी सबसे बड़ी कमाई होती है अपने काम के लिये दर्शकों की वाहवाही पाना। साथ ही इसकी गहराई में जायें तो एक कलाकार को अपने परिवार से भी सराहना की चाहत होती है। इससे उन्हें सबसे ज्यादा हौसला और सपोर्ट मिलता है।

एक ऐसे ही फैन मोमेंट के बारे में एण्ड टीवी के ‘हप्पू की उलटन पलटन’ से घर-घर मशहूर हो चुके दारोगा हप्पू सिंह यानी योगेश त्रिपाठी ने बताया, उनका यह फैन मोमेंट किसी और के साथ नहीं, बल्कि अपने बेटे दिशू के साथ जुड़ा है! सामान्य तेल में चुपड़े हुए बालों के साथ आठ साल का दिशू अपने डैडी योगेश के पास आकर उनकी ही अंदाज, उच्चारण और अभिव्यक्ति की नकल उतारते हुए कहता है, ‘न्यौछावर कर दो!’ उसकी इस अदा पर ऐक्टर आनंद विभोर हो जाते हैं। योगेश अपनी खुशी संभाल नहीं पा रहे थे और उनके लिये यह बेहद ही गर्व का पल था।

इस बारे में योगेश त्रिपाठी, उर्फ दरोगा हप्पू सिंह कहते हैं कि,

”यह मेरे लिये बेहद ही यादगार पल था। इससे पहले मैं कभी भी इतना खुश और हैरान नहीं हुआ। मेरे लिये इसे शब्दों में बयाँं करना आसान नहीं है। मैं बहुत ज्यादा खुश हुआ और मुझे गर्व महसूस हो रहा था! बच्चों की सबसे अच्छी बात होती है कि वे मासूम होते हैं, उनका मन साफ होता है और वो दिल से बात करते हैं जिसमें कोई मिलावट नहीं होती। मेरे लिये दिशू मेरा सबसे बड़ा आलोचक है। उसे हप्पू सिंह की तरह तैयार होना अच्छा लगता है। वह अपनी शर्ट के अंदर कुशन रख लेता है, उसकी तरह बाल बनाकर और दरोगा बनकर पूरे घर में घूमता है। इस छोटे हप्पू के सामने तो बड़ा हप्पू भी फेल है! ‘हप्पू की उलटन पलटन’ का मैराथन चल रहा है, जहाँ एक के बाद एक सारे एपिसोड देखे जा सकते हैं। दिशू ने कुछ सीन याद किये और बड़ी ही आसानी से उन्हें अभिनय करके दिखाया। उसे देखकर मुझे हैरानी महसूस हुई थी। हाल ही में उसने मुझे यह कहते हुए चैलेंज दिया कि वह हप्पू सिंह से ज्यादा बेहतर है और मैं कह सकता हूँ कि वह हप्पू के लिये सबसे बड़ा काॅम्पटीटर है (हँसते हैं)। वह मेरी सबसे बड़ी प्रेरणा और हौसला है। मेरे किरदार के लिये उसका यह प्यार मुझे अपना दायरा और बढ़ाने तथा ज्यादा मेहनत करने के लिये प्रेरित करता है। साथ ही अपने नन्हे हप्पू को ज्यादा खुश करने और गर्व महसूस करवाने की प्रेरणा मिलती है।“

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!