अनियंत्रित महँगाई पर लगाम लगाए सरकार-प्रदीप पुरी

ब्रज पत्रिका, आगरा। काग़ज़ से जुड़े पैकिंग निर्माताओं की संस्था आगरा पेपर पैकेजिंग एसोसिएशन के बैनर तले एक निजी होटल में संपन्न हुई प्रेसवार्ता में सभी सदस्यों ने संयुक्त रूप से केंद्रीय एवं राज्य सरकारों से इसमें तुरंत हस्तक्षेप की मांग की है।

अध्यक्ष प्रदीप पुरी का कहना था,

“इससे निर्माता कंपनियाँ बंदी के कगार पर पहुंच गयीं हैं, जिससे इस कारोबार से जुड़े लाखों लोगों के लिए रोजगार का संकट पैदा होने के आसार पैदा हो रहे हैं।”

महामंत्री बंटी ग्रोवर का कहना था,

“पिछले नवंबर से काग़ज़ एवं कच्चे उत्पादों की कीमतों में 70 से 80% की तेजी आ चुकी है लेकिन इसके बने उत्पादों यानि डिब्बों और कार्टून पर अपेक्षित बढ़ोत्तरी नहीं हुई, जिससे निर्माताओं द्वारा अपना प्रॉफिट खत्म करके भी आपूर्ति जारी रखना पड़ रहा है, लेकिन अब तो उनके अस्तित्व का संकट पैदा हो गया है।”

कोषाध्यक्ष प्रदीप अग्रवाल का कहना था कि,

“वर्तमान समय मे इतनी तेजी के बाबजूद भी कच्चे माल की उपलब्धता नहीं है।”

बैठक में सर्व सम्मति से निर्णय लिया गया कि वर्तमान स्थिति में कच्चे माल की आपूर्ति न होने एवं अनपेक्षित दर वृद्धि के कारण पेपर पैकिंग निर्माताओं को अपनी इकाइयां सुचारू रूप से चलाने में असमर्थता महसूस हो रही है।

सभी सदस्यों की अपेक्षा वर्तमान मे चल रही विषम परिस्थितियों को देखते हुए केंद्र और राज्य सरकारों से इसमें हस्तक्षेप करने की है। अन्यथा इस उद्योग से लाखों गरीब मजदूर और कामगारों के रोजगार पर संकट आ सकता है। सरकार को तुरंत हस्तक्षेप करके काग़ज़ मिल निर्माताओं एवं हमारे बीच पैदा हो रहे गतिरोध को खत्म करने की पहल करनी चाहिए, क्योंकि अभी ये तेजी अंतिम नहीं है, और काग़ज़ मिलें भी केवल 24 घंटे की बुकिंग के रेट दे रही हैं, वो भी अग्रिम भुगतान पर।

उपाध्यक्ष एसके जैन का कहना था,

“वर्तमान मे कच्चे माल पर हो रही दर वृद्धि से उत्पन्न विषम परिस्थितियों की स्थिति मे वह अपने ग्राहकों से भी अपेक्षा करते हैं कि इस कठिन स्थिति मे वह अपने आपूर्तिकर्ता का साथ दें।”

मंत्री नितिन शर्मा का कहना था कि,

“हम सभी पेपर पैकिंग निर्माताओं एवं ग्राहकों को संगठित रूप से वर्तमान कठिनाइयों से उबरने का प्रयास करना चाहिए।”

प्रेसवार्ता में बृज मोहन अग्रवाल, शैलेन्द्र शर्मा, अंकुर महाजन, अर्पित बंसल, शुभम अग्रवाल, मोनू ग्रोवर, प्रवीण तलवार, गुड्डू बंसल, ऋषभ सुरेका, रचित जिंदल, मयंक, योगेश, पुनीत ग्रोवर, विशेष बंसल, आयुष, आशीष, बंटी, मनीष, रमन सगी, सौरभ कालरा, बबलू आदि भी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!