सोनी सब ने नये साल 2021 के लिये एक सेहतमंद और खुशहाल साल की शुभकामनाएं दीं!

चैनल के नवीनतम ब्रांड कैंपेन में मनुष्य की तंदुरुस्ती और बेहतरी पर खुशियों के असर को दर्शाया गया है।

ब्रज पत्रिका। भारत के प्रमुख हिन्‍दी जनरल एंटरटेनमेन्ट के चैनलों में से एक सोनी सब ने हमेशा ही दर्शकों को खुश रहने के लिये प्रेरित किया है। उन्होंने अपने खासतौर से तैयार किये गये हल्के-फुल्के, पॉजिटिव कंटेंट के साथ यह प्रयास किया है। अपने ब्रांड की सोच और विश्वा‍स को आगे बढ़ाते हुए, सोनी सब ने 2020 को उम्मीदों और अच्छी सेहत के संदेश के साथ विदाई दी है। डॉ. अंजलि छाबरिया, एमडी मनोचिकित्सक द्वारा दिये गये इस संदेश में यह बताया गया है कि क्यों हर किसी को 2021 में खुश रहने का संकल्प लेने की जरूरत है।

इस नये ब्रांड वीडियो में दर्शकों को नए साल में प्रवेश के साथ अपनी सेहत पर दोबारा ध्यान देने के लिये कहा गया है। आगे इस बात को प्रमुखता से बताया गया है कि किस तरह पॉजिटिव कंटेंट सकारात्मक सोच को प्रेरित करने वाले माध्यम के रूप में काम करता है। इससे तनाव को कम करने में मदद मिलती है, इम्युनिटी के साथ-साथ मानसिक सेहत को बेहतर बनाने में भी यह मदद करता है।

अपने नये-नये कार्यक्रमों और मूल्यों से प्रेरित हल्के-फुल्के कंटेंट के साथ यह चैनल परिवार के साथ बैठकर टीवी देखने का अनुभव देने के लिये समर्पित है, जिससे उनके दर्शकों को एक सेहतमंद और खुशहाल जिंदगी जीने का मौका मिल रहा है। उन कार्यक्रमों में पारिवारिक कॉमेडी से लेकर फैंटेसी फिक्शन और मार्गदर्शन करने वाले कॉन्सेप्ट्स शामिल हैं।

एक अकल्पकनीय साल में, टेलीविजन ने परिवारों को करीब आने का मौका दिया। लॉकडाउन के दौरान टेलीविजन देखने वालों की संख्या 40 प्रतिशत बढ़ गयी (बीसीजी-सीआईआई रिपोर्ट)। लिविंग रूम ब्रांड माने जाने वाले सोनी सब ने 2020 में काफी अनूठे और बेहतरीन शोज़ लॉन्च किये।

‘तेरा यार हूं मैं’ में पिता-बेटे के रिश्ते को दर्शाया गया है, भारतीय परिवार के वास्तविक चित्रण की वजह से इसे काफी लोकप्रियता मिली, वहीं ‘काटेलाल एंड संस’ दो ऐसी लड़कियों की कहानी है, जो दूसरे जेंडर की भूमिका निभा रही हैं। दर्शकों को ये शोज़ अभी भी पसंद आ रहे हैं। अभी हाल ही में आई साइंस-फिक्शवन कहानी ‘हीरो गायब मोड ऑन’ एक लड़के की कहानी है। उसे बुरी ताकतों से लड़ने के लिये एक अद्भुत शक्ति मिल जाती है और इसकी नई तरह की कहानी और शानदार विजुअल्स की वजह से दर्शकों ने इसे हाथों-हाथ लिया। अब यह चैनल ‘वागले की दुनिया’ लॉन्च करने की तैयारी कर रहा है। यह आज के दौर के मध्यमवर्गीय परिवार की इच्छाओं की कहानी है। इस कहानी में लीप लिया गया है, और यह आज की पृष्ठभूमि में नई पीढ़ी के साथ वागले और उसके परिवार पर बनी है।

नीरज व्यास, बिजनेस हेड, सोनी सब का कहना है,

‘’सोनी सब में हम ऐसे शोज़ तैयार करते हैं जो केवल मनोरंजन ही नहीं करते, बल्कि लोगों को खुशियां भी देते हैं। वर्ष 2020 ने यदि हमें कुछ सिखाया है तो वह है, आशावादी, खुशमिजाज और सेहतमंद बने रहने का मंत्र। चूंकि, हम नये साल में प्रवेश कर रहे हैं तो हमें कुछ ऐसा चाहिये जिससे हम तनावमुक्त हो पायें। साथ ही अपनी सेहत और तंदुरुस्ती पर फिर से ध्यान दें। डॉ. अंजलि छाबरिया के साथ जुड़कर हमें बेहद खुशी का अनुभव हो रहा है। उन्होंने भी यह माना है कि अच्छी‍ और सकारात्मक सोच में ही बेहतर सेहत, मस्तिष्क और शरीर का राज छुपा है। हम अपने कंटेंट के माध्याम से अपने दर्शकों को इसी तरह परिवार के साथ रिश्तों को मजबूत बनाने, परिवार के करीब आने, उनके साथ हंसने का मौका देते रहेंगे। सरल शब्दों में कहा जाये तो खुशियां बिखेरने का मौका यूं ही देते रहेंगे।‘’

डॉ. अंजलि छाबरिया, एमडी साइकैट्रिस्ट, का कहना है,

‘’ऐसे समय में जब हम चारों ओर नकारात्मकता और अत्यंत तनाव से घिरे हुए हैं, खुश रहने से काफी मदद मिल सकती है। खुशी तनाव के एंटीडॉट की तरह काम करती है और कई बार हमें खुश रहने के लिये किसी प्रेरक की जरूरत होती है। मजेदार कहानी का आनंद लेते हुए, दिल खोलकर हंसने, अपनों के साथ वक्त बिताने से किसी को भी खुश रहने में मदद मिल सकती है। और कई सारे अध्ययनों में भी यह बात बार-बार साबित हुई है कि खुश रहने वाले लोग सेहतमंद भी होते हैं। खुशी और सेहत साथ-साथ चलती है, और जबकि हम नये साल में प्रवेश कर रहे हैं तो हमें इसकी जरूरत है। खुशहाली और सेहत से भरपूर एक भविष्यम आगे हमें बीते मुश्किल साल से उबरने में मदद करेगा।‘’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!